INDIA’S NO.1 COMICS UNIVERSE

About SKR CREATIONS: We started SKR Creations in 2017, It was the passion of Mr. Satendra Kumar Rawat backed by the imagination, that led to the inception of SKR Creations. Now, it is the home to some universally acclaimed superheroes and characters.

SKR Creations is an Indian Comics, Stories, eBook Publisher. All content is published digitally only.

We also know that SKR Creations: India’s No.1 Comics Universe of Indian Comics, SKR comics, stories, podcasts. Indian Comics Universe including all characters, heroes, villains, teams, groups, weapons, items, and more!

READ OUR LATEST DIGITAL COMICS, STORIES, PODCASTS AND MORE.

SKR Creations: India’s No.1 Comics Universe of Indian Comics, SKR comics, stories, podcasts.

Bhoot Bangla

Bhoot Bangla

Bhoot Bangla: रात के करीब 2 बजे थे, एक 25-30 साल की औरत रास्ते में ऑटो का इंतजार कर रही थी। रात काफी हो चुकी थी, और वह अकेली भी थी। कुछ देर इंतजार करने के बाद उसे एक ऑटो आता हुआ दिखाई देता है। वह ऑटो रोकने के लिए अपना हाथ दिखाती है, सड़क पर सवारी देख ऑटो ड्राइवर उस औरत के पास जाकर ऑटो रोक देता है। ऑटो ड्राइवर ने पूछा: कहाँ जाना है मेडम ?औरत: अजय नगर जाना है। ऑटो ड्राइवर ने अपना फ़ोन निकाला और मेप पर अजय नगर ढूंढने लगा क्योकि वो इस शहर में नया आया था। अजय नगर वहां से करीब 10 किमी था। ऑटो ड्राइवर ने बोला: मेडम 300 रुपये किराया लगेगा अजय नगर तक का।औरत ने बोला: नहीं, सिर्फ 100 रुपये लगते है अजय नगर तक के मै रोज जाती हूँ। ऑटो ड्राइवर ने कुछ देर सोचा और बोला बैठिये मेडम छोड़ देता हूँ। वह औरत ऑटो में पीछे की सीट पर जाकर बैठ गयी। ऑटो अजय नगर की ओर निकल पड़ता है। करीब 3-4 किमी चलने के बाद ऑटो ड्राइवर सामने वाले शीशे में पीछे बैठी हुई औरत को बार-बार देख रहा था। वह औरत भी काफी देर से उसकी इस हरकत को देख रही थी। तभी उस औरत का फोन बजता है, जिस पर उसके किसी दोस्त की कॉल आरही थी। वह फ़ोन उठाती है और बोलती है। Bhoot Bangla हेलो जानवी ! जानवी: यार, आज में तेरे घर नहीं आ सकती हूँ।ऑटो में बैठी औरत ने बोला: क्यों क्या हुआ , तुझे तो पता है मेरे पति घर पर नहीं है। वह कुछ दिनों के लिए बहार...

Haunted Book: The Mysterious Box | Chapter 3

Haunted Book: The Mysterious Box | Chapter 3

Haunted Book: The Mysterious Box | Chapter 3 – कैलाश और उसकी पत्नी को रहने के लिए एक घर की आवश्यकता थी। फिर एक दिन उन्हें कॉल आया कि एक बहुत ही शानदार बांग्ला बिकाऊ है बहुत ही काम दामों में। कैलाश को उस बंगले के बारे में ठीक से जानकारी नहीं थी और उन्हें यह कम दाम में इतना बड़ा बंगला मिल गया था, जिससे उनकी खुशी का ठिकाना नहीं था। यह बिल्कुल सच था कि बंगला बहुत बड़ा था। इस बंगले के चारों ओर बड़े-बड़े पेड़ थे। मानो पूरा बंगला जंगल में समा गया हो। बंगले की दीवारों पर लगा प्लास्टर इधर-उधर से उखड़ हुआ, बेलें बंगले की छत के ऊपर पहुंच गईं, जिससे बंगला और भी डरावना लग रहा था। अगर अपने Haunted Book के पहले 2 भाग नहीं पढ़े है तो उन्हें भी पढ़े: Haunted Book: Musaafir | Chapter 1 Haunted Book: Sapno Ki Duniya | Chapter 2 कैलाश की पत्नी जिसका नाम प्रेमलता था। उसे भी यह बंगला बहुत पसंद आया, वह जानता था कि इस बंगले को साफ करने की जरूरत है। उसके बाद यह और भी अच्छा दिखेगा, क्योंकि हमें इतना बड़ा बंगला मिला है। इससे दोनों बहुत खुश हुए। लेकिन उन्हें इस बंगले की हकीकत का जरा भी अंदाजा नहीं था कि यह बंगला कितना खतरनाक है। कुछ दिनों तक उन्होंने बंगले को अच्छी तरह से साफ किया और रहने योग्य बना दिया। एक बार की बात है जब कैलाश काम से अपने घर आ रहे थे तो रास्ते में उनकी मुलाकात एक बूढ़ी औरत से हुई और उनसे कहने लगे कि लगता है तुम उसी बंगले में रहते हो, जल्द...

Naagin: Atit Se Parichay

Naagin: Atit Se Parichay

Naagin: Atit Se Parichay | नागिन: अतीत से परिचय – नागिन कहानी का यह दूसरा भाग है अगर अपने इस नागिन की कहानी का पहला भाग एक थी नागिन नहीं पढ़ा है तो पहले उसे पढ़े उसके बाद इसके दूसरे भाग को पढ़ें। कहानी के हर भाग एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। नागिन का पहला भाग पढ़े: Ek Thi Naagin | एक थी नागिन Naagin: Atit Se Parichay | नागिन: अतीत से परिचय – सब लोग इस बात से चिंतित थे। कि “कौन थी वो” और अचानक से गायब कैसे होगयी। लेकिन कुछ समय बाद वो जब फिर से सबके सामने आयी तो सब लोग फिर से हक्के बक्के गये। और इस बार वो काफी गुस्से में भी थी। क्योकि साधु महाराज ने उसके बारे में काफी भला बुरा बोला था। जिसके कारन उसे गुस्सा भी आ रहा है। वो साधु से गुस्से में कहती है, “क्या बोल तूने मै खतरनाक साबित हो सकती हूं ? साधु: देखा महाराज देखा, इस नागिन का जहरीला गुस्सा। ये बहुत ही खतरनाक नागिन है। ये पकड़ में आ जाये इसीलिए मैंने ये बीन बजवाई थी। इस नागिन को मैने जंगल मे देखा था। इसने एक आदिवासी को डस कर मार डाला है। नागिन: ये तू क्या बोल रहा है ? मैंने आज तक किसी की भी जान नही ली। क्यो जुठ बोल रहा है तू? साधु: क्यो, अब सच सामने आया तो मै झूठ बोल रहा हूँ। ठीक है तो बोल, तुझे जंगल मे आदिवासीयों ने पकड़ा था कि नही? नागिन: हा… पकड़ा था। साधु: फिर वो लोग तुझसे डरकर भाग गए थे कि नही? नागिन: हा…. ये बात सच है कि...

Wo Kon Thi

Wo Kon Thi

Wo Kon Thi | वो कौन थी: सितंबर के महीने की काली अँधेरी रात थी। धीरे धीरे हवा की ठंडी लहरें चल रही थी, आकाश में बिजली चमक रही थी। सुरेन्द्र अपने घर से दूर अपने खेत में खाट में सोया हुआ था। उसका खेत गाँव के तालाब के पास था। बारिश के कारन पूरा तालाब पानी से भर गया था और खेत में घास भी ज्यादा हो गई थी। जिसके कारण अंधेरे में यह सब बहुत ज़्यादा डरावना लग रहा था। उस तालाब के किनारे आम के 5 -6 बड़े बड़े पेड़ थे। आम के पेड़ की पक्तियों की आवाज भी काफी डरावनी लग रही थी। अचानक खेत में बंधी हुई भैंसो ने चिल्लाना शरु कर दिया। सुरेन्द्र को पता ही नहीं चल रहा था की आखिर यह भैंसे ऐसा क्यों कर रही है। उसे लगा की शायद ठंड के कारण यह भैंसे ऐसा कर रही हैं। इसीलिए सुरेन्द्र ने खेत में चिमनी जलाई। यह सभी देखें – Basebook.in : Rating and Reviews Platform उस चिमनी के उजाले में सुरेन्द्र की नजर उसकी खाट पे पड़ी। उन्होंने देखा की एक स्री उनकी खाट पे बैठी है। यह देख कर उनका शरीर डर के मारे कांपने लगा। उसी वक्त आकाश में बिजली का तेज गड़गड़ाहट हुई। वैसे तो सुरेन्द्र बहादुर था, लेकिन आज उन्हे भी थोड़ा डर लग रहा था। उसी वक्त सुरेन्द्र ने आग में शुकी घास डाली और आग को ज्यादा बढ़ाया इसकी वजह से वो औरत ठीक से दिखाई दे रही थी। सुरेन्द्र ने आग के पास बैठे बैठे यही सोचने लगे कि “वह कोन है?” पर सामने से कोई प्रतिक्रिया नई मिली। इसीलिए सुरेन्द्र अचंबित...

खरगोश और कछुआ की दौड़ – एक नए अंदाज में

खरगोश और कछुआ की दौड़ – एक नए अंदाज में

खरगोश और कछुआ की दौड़ – एक नए अंदाज में: आप सभी ने बचपन में खरगोश और कछुआ की दौड़ की कहानी तो सुनी ही होगी। यह उसी कहानी से प्रेरित होकर दोबारा कुछ नए अंदाज में लिखी गयी है। जंगल में एक बड़ी पहाड़ी के पीछे बहुत सारे जंगली जानवर रहते थे। उन्हीं में एक खरगोश और कछुआ भी थे। पहाड़ी के बीच से एक नदी निकलती थी। सभी जंगली जानवर वहां पानी पीने आया करते थे। जब कभी भी कोई बड़ा और खतनाक जानवर वहां आता तो छोटे छोटे पशु पक्षी वहाँ से भाग जाते थे। खरगोश और उस जैसे कई फुर्तीले जानवर तुरंत भाग जाते थे। ये देखकर वहां रह जाने वाले छोटे छोटे जानवर पीछे रह जाते थे। जिनको खरगोश बहुत चिडता था। एक बार खरगोश को अपनी तेज चाल पर घमंड हो गया और वह जो मिलता उसे रेस लगाने के लिए चुनौती देता। उसने कछुए को भी रेस लगाने की चुनौती देने के साथ -साथ उसका मजाक भी उड़ाया। उसने कहा – तुम कितना धीरे चलते हो ! कछुआ हमेशा उसकी बात सुनकर हमेशा अनसुनी कर देता था। पर एक दिन खरगोश से उसे चुनौती देदी। यह सुनकर कछुए को गुस्सा आ गया और उसने खरगोश की चुनौती स्वीकार कर ली। खरगोश जोर-जोर से हँसने लगा, हँसते हुए उसने कछुए से कहा कि तुम मुझसे रेस लगाओगे ? कछुए ने कहा कल हम दोनों पहाड़ी के दूसरी तरफ जायेंगे फिर देखते हैं कौन पहले पहुँचता है। खरगोश और कछुआ की दौड़ – एक नए अंदाज में अगले दिन सुबह दौड़ शुरू हुई। खरगोश तेजी से दौड़ा और काफी आगे जाने के बाद उसने...

Ek Thi Naagin

Ek Thi Naagin

Ek Thi Naagin: एक दिन काली अंधेरी रात में आकाश में बिजली कड़क रही थी साथ ही तेज बारिश भी हो रही थी। एक लड़की जिसका नाम बेला है इस कयामत की रात में जंगल से गुज़रते हुए जा रही है। बेला का रूप इतना सुंदर है कि उसके सामने अप्सरा भी फीकी पड़े। बेला के कपड़े उसकी सुंदरता में ओर रोनक ला रहे है। बेला चलते हुए जा रही होती ही है कि इस भयंकर बारिश के साथ उसकी आँखों मे रक्त दौड़ने रहा है। उसकी आँखे देखकर लगता है कि उसके सर पर खून सवार हो, बेला का क्रोध उसपे हावी होने लगता है। मानो की अब किसी का काल बनने वाली हो। अब बेला एक पेड़ के पास खड़ी हो जाती है और जोर से चीखती है। जिसकी चीख से पूरा आसमान गूंज उठता है। वो चीखकर बोलती है, “विक्रमादित्य में वापिस आ गई हूं। अब देख में तेरा क्या हाल करूँगी । तूने जो किया है, इसकी सजा तो तुजे मिलेंगी ही और वो भी मेरे हाथों से, इतना बोल कर बेला आगे बढ़ती है और राजा विक्रमादित्य के महल के पास जाकर रुक जाती है। और महल को देखते हुए कहती है, “विक्रमादित्य, तेरा काल आ चुका है, तेरी मौत मेरे ही हाथों होगी। जैसे आज ये बिजली कड़क रही है ना बहुत जल्द तेरे जीवन मे भी ऐसी ही बिजली कड़केगी और वो तेरे जीवन का आखरी दिन होगा।” – Read Complete Series: Ek Thi Naagin अब बेला अपनी असली पहचान छिपकर नौकरी मांगने के लिए महल अंदर चली जाती है। बेला की सुंदरता को देखते ही विक्रमादित्य होश खो देता है। वह...

Naagin

Naagin

SKR Creations Naagin: नागिन SKR Universe में एक बहुत ही शक्तिशाली किरदार है। नागिन SKR Universe में एक ऐसा किरदार है जो किसी का भी रूप धारण कर सकता है। हमने “नागिन” नाम क्यों लिया है ? भारत में नागों की सबसे ज्यादा प्रजातियां पाई जाती है। प्राचीनकाल से लोगों में यह प्रचलित है कि एक नाग ऐसा होता है जो कि इच्छाधारी होता है, अर्थात जो किसी का भी रूप धारण कर सकता है। हमारी संस्कृति में नाग पूजा का महत्व प्राचीनकाल से ही रहा है। पौराणिक कथाओं के अनुसार कोबरा जाति के नागों में कुछ ऐसे नाग भी होते हैं जो सभी तरह का ज्ञान रखते हैं। जिस तरह इंसानों में सिद्ध संत होते हैं उसी तरह नागों में सिद्ध नाग होते हैं, जो किसी के भी शरीर का इस्तेमाल कर सकते है। नागों के प्रति हमारी संस्कृति कुछ अलग ही है। इसीलिए तो देशभर में नागों के कई मंदिर भी हैं। माना जाता है कि इच्छाधारी नाग के पास एक मणि भी होती है। पौराणिक मान्यता के अनुसार इंसानों में कुछ ऐसे जीव और 84 लाख योनियां हैं, जो रहस्यमयी हैं। उनमें से एक सांप भी है। प्राचीन काल में 30 से 40 फीट तक के सांप होते हैं। श्रीकृष्ण द्वारा मारा गया नाग अगासुर लगभग उतना ही बड़ा था। पौराणिक ग्रंथों में नागवंश और नागकन्या का भी उल्लेख मिलता है। महाभारत में उल्लेख है कि पांडु के पुत्र अर्जुन ने नागकन्या उलुकि से विवाह किया था। भीम के पुत्र घटोत्कच का विवाह भी एक नागा कन्या से हुआ था। हमारे पौराणिक ग्रंथों, कथाओं आदि में अनेक प्रकार के नागों का उल्लेख मिलता है। लेकिन विज्ञान...

Haunted Book: Chapter 2 – Sapno Ki Duniya

Haunted Book: Chapter 2 – Sapno Ki Duniya

Haunted Book: Chapter 2 – Sapno ki Duniya | लोग कहते हैं अगर आप अपने सपनों में मर जाते हैं तो असल ज़िंदगी में भी मर जाते हैं। लेकिन ये सिर्फ़ एक झूठ है। क्या हो अगर जो सपनो में हो वो असल दुनिया में होने लगे। यह कहानी भी कुछ ऐसी ही है। अगर अपने इस कहानी का पहला भाग  Haunted Book: Chapter 1 – Musaafir नहीं पढ़ा है तो पहले उसे पढ़े उसके बाद इसके दूसरे भाग को पढ़ें। कहानी के हर भाग एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। इसे भी पढ़ें:  Haunted Book: Chapter 1 – Musaafir Haunted Book: Chapter 2 – Sapno ki Duniya गहरी नींद में सो रही मिताली आधी रात को डरकर अचानक अपने बिस्तर पर बैठ जाती है। डर से उसका बुरा हाल था वह पसीने से पूरी तरह भीगी हुई थी। मिताली की आवाज सुन उसकी मां भी जाग जाती है और मिताली से पूछने लगती है क्या हुआ तुम इतनी घबराई हुई क्यों हो। लेकिन लड़खड़ाते जुबान से मिताली कुछ कह नहीं पा रही थी। तभी मां ने कहा ठीक है इस कमरे में अभी अंधेरा छाया हुआ है। और यह कह मां लालटेन जलाने के लिए कमरे से बाहर चली जाती है। इधर डर से मिताली के दोनों आंखों की पुतलियां फैल चुकी थी। मां को बाहर गए अभी कुछ ही क्षण हुए थे कि अचानक मिताली उस अंधेरे में घर का दरवाजा खोल दौड़ते हुए घने जंगलों की ओर जाने लगती है। Haunted Book: Chapter 2 – Sapno ki Duniya   मां मिताली को देख उसे रोकने के लिए आवाज लगाती है लेकिन वह फिर भी नहीं रुकती….. मां...

Haunted Book: Chapter 1 – Musaafir

Haunted Book: Chapter 1 – Musaafir

Haunted Book: Chapter 1 – Musaafir | क्या हो अगर आपको कभी कोई ऐसी किताब मिल जाये। जिसे पड़ने वाले की ज़िन्दगी अचानक किताब की कहानी से जुड़ जाये। आपके साथ भी ऐसा हो जैसा कहानी में हो रहा है। इस किताब की कहानी कुछ ऐसे ही है। Haunted Book: Chapter 1 – Musaafir कहानी की शुरुआत में एक पिता अपने बेटे को लेकर सुनसान सड़क पर अकेले चले जा रहे हैं। इनके पास एक ट्रॉली है, जिसमें इनकी जरूरत का सामान है।जैसे खाना, कपडे, पानी आदि।  इन दोनों की हालत बहुत ज्यादा खराब है। इस दुनिया को देखकर ऐसा लगता है, कि पूरी दुनिया में सिर्फ यही दोनों बचे हैं। क्योंकि इनके आस पास ना इंसान, ना गाड़ियां और ना ही हरियाली है। लेकिन यह सच नहीं है। इस दुनिया में ऐसे लोग भी हैं जो आदमखोर हैं। यानी जो इंसानों को खा जाते हैं। क्योंकि धरती पर अब कोई फसल नहीं होती। कोई जानवर नहीं बचा है। इसलिए इंसान को अपने आप को बचाने के लिए दूसरों को खाना पड़ता है। जो लोग ऐसा नहीं कर पाएं, या तो वह भूख से मर गए, या उन्हें अपनी जान देनी पड़ी। सड़क पर एक पिता और उसका बेटा एक सफर पर है। इन्हें अपने आप को आदमखोर लोगों से बचाना है। साथ ही साथ अब दुनिया में ठंड बहुत ज्यादा है। इसलिए हमेशा इन्हें गर्म कपड़े पहन कर रखने पड़ते हैं। डेविड रास्ते में अपने बेटे के साथ एक जगह रुक जाता है। डेविड के पास रिवाल्वर है जिसमें दो गोलियां हैं। वह अपने बेटे से पूछता है, कि तुम्हें याद है ना इसे कैसे चलाना है। अब अपने...

INDIA’S NO.1 COMICS UNIVERSE

SKR Creations is an Indian Comics, Stories, eBook Publisher. All content is published digitally only.

We also know that SKR Creations: India’s No.1 Comics Universe of Indian Comics, SKR comics, stories, podcasts. Indian Comics Universe including all characters, heroes, villains, teams, groups, weapons, items, and more!